भारतीय वायुसेना के लिए दिल्ली में स्टाफ क्वॉर्टर बनाएगी DMRC

 साउथ दिल्ली में खानपुर टी-पॉइंट के पास वायुसेना विहार में डीएमआरसी एयरफोर्स के लिए मल्टीस्टोरी स्टाफ क्वॉर्टर बनवाने जा रही है। कॉन्ट्रैक्टर का चयन करने के लिए शुरू की गई टेंडर प्रक्रिया भी अब आखिरी फेज में है। जल्द ही किसी एक कंपनी को टेंडर अवॉर्ड कर दिया जाएगा। निर्माण कार्य 18 महीने में पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है।

परियोजना के बारे डीएमआरसी अधिकारियों ने बताया कि मेट्रो के फेज-4 के तहत तुगलकाबाद से दिल्ली एयरोसिटी के बीच एक नई मेट्रो लाइन का निर्माण किया जा रहा है, जो सिल्वर लाइन के नाम से जानी जाएगी। यह लाइन तुगलकाबाद से एमबी रोड के रास्ते संगम विहार, तिगड़ी, खानपुर, अंबेडकर नगर, साकेत होते हुए आगे वसंत कुंज की ओर जाएगी। साकेत और संगम विहार के बीच मेट्रो लाइन के लिए डीएमआरसी को वायुसेना के अधिकार क्षेत्र वाले इलाके की कुछ जमीन चाहिए थी। इसके लिए मंत्रालय स्तर पर बातचीत शुरू हुई।

कई दौर की बैठकों के बाद रक्षा मंत्रालय इस शर्त पर जमीन देने के लिए राजी हो गया कि बदले में डीएमआरसी को जमीन की वैल्यू का इन्फ्रास्ट्रक्चर वायुसेना के लिए बनाकर देना पड़ेगा। उसी के बाद आपसी सहमति से वायुसेना और डीएमआरसी के बीच एक एमओयू साइन किया गया। इसके तहत वायुसेना ने जहां डीएमआरसी को मेट्रो लाइन के निर्माण के लिए अपनी कुछ जमीन दी, वहीं बदले में डीएमआरसी ने वायुसेना के स्टाफ के लिए वायुसेना विहार में स्टाफ क्वॉर्टर बनाने का बीड़ा उठाया। डीएमआरसी के अधिकारियों का मानना है कि शहर के विकास के लिए डीएमआरसी और दूसरे सरकारी विभाग किस तरह आपसी तालमेल बनाकर साथ काम कर सकते हैं, यह परियोजना उसका एक अच्छा उदाहरण भी है।

अब जबकि मेट्रो लाइन का निर्माण काफी एडवांस स्टेज में है, ऐसे में डीएमआरसी ने मल्टीस्टोरी स्टाफ क्वॉर्टर के निर्माण की प्रक्रिया भी शुरू कर दी है। इस परियोजना के तहत वायुसेना विहार में सात मंजिला इमारत का निर्माण किया जाएगा, जिसमें स्टाफ के लिए रिहायशी फ्लैटों के साथ-साथ क्लब और जिम जैसी कुछ अन्य सुविधाएं भी उपलब्ध कराने की योजना है। इसके लिए अक्टूबर में ही टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दी गई थी, जो अब अपने अंतिम चरण में है। जल्द ही कॉन्ट्रैक्टर का चयन करके निर्माण कार्य शुरू करवा दिया जाएगा। प्रस्तावित स्टाफ क्वॉर्टर से मां आनंदमयी मार्ग और संगम विहार का मेट्रो स्टेशन महज 1.7 किमी की दूरी होंगे। डीएमआरसी की कोशिश इस लाइन पर मेट्रो का परिचालन शुरू होने से पहले ही स्टाफ क्वॉर्टर तैयार कराने की है।

Delhi News